Bihar News

1100 प्रवासी मजदूरों को लेकर आज पटना पहुंचेगी स्पेशल ट्रेन

Train

Bihar Live (Patna):  लॉकडाउन के कारण दूसरे राज्यों में फंसे प्रवासी मजदूरों, छात्रों एवं पर्यटकों की घर वापसी शुरू हो गई है। इसके लिएराजस्थान में रह रहे प्रवासी स्टूडेंट्स व मजदूरों को उनके गृह राज्य तक पहुंचाने के लिए शुक्रवार को 2 स्पेशल ट्रेनें चलाई गईं। एक ट्रेन शुक्रवार रात 10 बजे कोटा से 1200 स्टूडेंट्स को लेकर रांची और दूसरी ट्रेन जयपुर से करीब 1100 मजदूरों को लेकर पटना के लिए रवाना की गई। राज्य सरकार के पास शुक्रवार रात तक 11 लाख 56 हजार प्रवासियों और श्रमिकों ने दूसरे राज्यों में जाने के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराया है।

बता दें कि मजदूर दिवस के दिन केंद्र सरकार ने कई राज्यों में फंसे मजदूरों के साथ साथ छात्र-छात्राओं, तीर्थयात्री, पर्यटकों को राहत दी। केंद्र सरकार ने कई श्रमिक स्पेशल ट्रेन चलाने का निर्णय लिया था। पहली ट्रेन सुबह पांच बजे लिंगमपल्ली से झारखंड के हटिया के लिए, दूसरी ट्रेन रात नौ बजे कोटा से झारखंड के हटिया के लिए, तीसरी ट्रेन रात दस बजे जयपुर से पटना के लिए, और इसके अलावा चौथी ट्रेन अलुवा से भुवनेश्वर और पांचवी ट्रेन नासिक भोपाल के लिए रवाना हुई।

राजस्थान सरकार द्वारा रेलवे को सौंपी गई सूची के आधार पर ही मजदूरों एवं स्टूडेंट्स को दोनों ट्रेनों के अलग-अलग कोचों में सोशल डिस्टेंसिंग के साथ बिठाया गया। इस कारण ट्रेन में मिडिल बर्थ किसी को आवंटित नहीं की गई। ट्रेन में सवार होने से पहले सभी की स्क्रीनिंग की गई। सभी को मास्क,पानी की बोतल और भोजन के पैकेट्स दिए गए।

  राज्य सरकार को केंद्र सरकार से पांच ट्रेन चलाने की अनुमति मिली है। जयपुर से रवाना हुई ट्रेन शनिवार दोपहर 12:45 बजे पटना पहुंचेगी। बीच में आगरा फोर्ट, टूंडला और दीनदयाल उपाध्याय स्टेशनों पर ठहराव करेगी। बीच के स्टेशनों से यात्री ट्रेन में सवार नहीं हो सकेंगे, केवल पहले से बैठे मजदूर ही उतर सकेंगे। ट्रेन में कुल 24 कोच है, जिनमें 18 कोच स्लीपर क्लास के हैं, चार कोच जनरल क्लास और दो एसएलआर कोच हैं। सभी मजदूरों के किराए की रकम राज्य सरकार ने रेलवे को अदा की है। कोटा से रवाना हुई ट्रेन में 1200 कोचिंग स्टूडेंट्स और उनके अभिभावक सवार हुए। यह ट्रेन शनिवार को दोपहर में रांची पहुंचेगी।

गौरतलब है कि कोरोना संक्रमण बढ़ने पर देशभर में लॉकडाउन कर दिया गया था। इस दौरान बिहार के हजारों कामगार और छात्र राजस्थान सहित कई प्रांत में फंसे हुए हैं। इसी क्रम में बिहार में सियासत भी गरमा गई थी और बिहार सरकार पर उन्हें वापस लाने का दबाव भी बढ़ता जा रहा था। अब जबकि इनके बिहार वापसी का क्रम शुरू हो गया है तो कोरोना संक्रमण को रोकना सरकार की सबसे बड़ी चुनौती है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

About Us

Bihar Live is now One the leading digital media company in Bihar, India. Started in 2015 now followed by 1,25,000+ people on the social media. Now we have team working from different cities in India, like Patna, Muzaffarpur, Gorakhpur, Noida etc.

Email Us: info@biharlive.in
Call No: +91-8873031818

Follow Us on Facebook

Copyright © 2015-2020 Bihar Live. Designed By Flipsoft Technologies

To Top